Recent Tube

ads
Responsive Ads Here

Himachal Highlights Today

मुख्यमंत्री ने कोरोना योद्धाओं का बढ़ाया हौसला

वीडियो कांफ्रेसिंग के माध्यम से की बातचीत; कोविड-19 व कर्फ्यू की स्थिति का लिया जायजा, उत्कृष्ट सेवाएं देने के लिए दिया साधुवाद


मुख्यमंत्री श्री जयराम ठाकुर जी कोरोना महामारी से पेश आई संकट की इस घड़ी में राज्य में सभी वर्गों का विशेष ध्यान रख रहे हैं। प्रदेश सरकार राज्य की जनता तथा यहां फंसे अन्य प्रदेशों के लोगों की सुविधाओं के लिए हरसंभव कदम उठा रही है। इसके साथ ही संकट की इस घड़ी में सेवाएं दे रहे कोरोना योद्धाओं की सुविधाओं का भी विशेष ख्याल रखा जा रहा है। इसी कड़ी में आज मुख्यमंत्री श्री जयराम ठाकुर जी ने इंदिरा गांधी मेडिकल काॅलेज शिमला, डाॅ. राजेन्द्र प्रसाद राजकीय मेडिकल काॅलेज टांडा, कांगड़ा और श्री लाल बहादुर शास्त्री राजकीय मेडिकल काॅलेज नेरचौक के चिकित्सकों, पैरा मेडिकल स्टाफ और सफाई कर्मचारियों से वीडियो कांफ्रेसिंग के माध्यम से बातचीत करते हुए प्रदेश में कोरोना वायरस से जूझ रहे मरीजों को बेहतरीन सेवाएं देने के लिए उनका आभार व्यक्त किया। इन तीनों चिकित्सा संस्थानों ने कोविड-19 के प्रारंभिक मामलों का उपचार किया था। इन चिकित्सकों, पैरा मेडिकल स्टाफ और सफाई कर्मचारियों को अब क्वारंटीन में रखा गया है। मुख्यमंत्री ने कहा है कि सभी कोरोना योद्धाओं द्वारा दी गई सेवाएं निःसन्देह चिकित्सा क्षेत्र में प्रेरणादायक हैं।


स्वास्थ्य सेवाएं दे रहे समस्त प्रतिनिधियों का प्रदेश आभारी 

मुख्यमंत्री श्री जयराम ठाकुर जी ने कहा कि इन चिकित्सकों, पैरा मेडिकल स्टाफ और सफाई कर्मचारियों की सेवाएं सराहनीय हैं और प्रदेश की जनता इनकी निःस्वार्थ सेवाओं के लिए इनकी आभारी है। उन्होंने कहा कि स्थिति सामान्य होने के उपरान्त वह स्वयं इन सभी कोरोना योद्धाओं से बातचीत करेंगे। इन्दिरा गांधी मेडिकल काॅलेज शिमला के डाॅ. लोकेश, डाॅ. निशांत, डाॅ. सतीश, डाॅ. मनोज और सिस्टर शीला व सिस्टर प्रियंका से बातचीत करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि कोविड-19 के मरीजों के उपचार कि लिए उन्होंने निर्भिक और निःस्वार्थ सेवाएं दी हैं।


मुख्यमंत्री ने चिकित्सकों से मरीजों के उपचार संबंधी अनुभवों को भी सुना


 मुख्यमंत्री श्री जयराम ठाकुर जी ने डाॅ. यामिनी, डाॅ. हिमांशु, डाॅ. रजत, डाॅ. नितीश और डाॅ. मनु शर्मा से भी बातचीत की और कोविड-19 के मरीजों के उपचार के प्रति उनके प्रयासों की सराहना की। उन्होंने दूरभाष के माध्यम से टांडा अस्पताल में कोविड-19 के पहले दो पाॅजिटिव मरीजों से अस्पताल से छुट्टी के उपरान्त स्वयं बातचीत की। उन्होंने कहा कि दोनों मरीजों ने टांडा मेडिकल काॅलेज के कर्मचारियों द्वारा दी गई सेवाओं की सराहना की है। मुख्यमंत्री श्री जयराम ठाकुर जी ने डाॅ. रेखा बंसल, डाॅ. राजेश कुमार के अतिरिक्त श्री लाल बहादुर शास्त्री राजकीय मेडिकल काॅलेज नेरचैक जिला मण्डी के प्रधानाचार्य डाॅ. रजनीश पठानिया से भी बातचीत की। मुख्यमंत्री ने कोविड-19 के मरीजों के प्रति उनकी सेवाओं की सराहना करते हुए उनके मरीजों के उपचार के अनुभवों को भी सुना।

पुलिस जवान दे रहे सराहनीय सेवाएं : मुख्यमंत्री
मुख्यमंत्री श्री जयराम ठाकुर जी ने इसके उपरांत स्काइप के जरिये शिमला जिला के कुड्डू बैरियर में तैनात एएसआई चिंतामणि और नेरवा में तैनात एएसआई लोकेंद्र से बातचीत की। उन्होंने सिरमौर जिला में तैनात हैड कांस्टेबल आशु अग्रवाल और सोलन जिला के परवाणु में कार्यरत इंस्पेक्टर रवींद्र कुमार से भी बातचीत की। मुख्यमंत्री ने कोराना वायरस के कारण प्रदेश में लगाए गए कर्फ्यू के दौरान सराहनीय सेवाएं देने के लिए इन सभी पुलिस कर्मियों की प्रशंसा की। उन्होंने सभी से अपनी सुरक्षा का ध्यान रखने का भी आग्रह किया।


3 मई तक बंद रहेंगे सभी सरकारी कार्यालय और शैक्षणिक संस्थान
केंद्र सरकार के निर्णय के अनुसार, राज्य सरकार ने भी हिमाचल प्रदरेश में कर्फ्यू की अवधि को 3 मई 2020 तक बढ़ा दिया है। राज्य सरकार ने निर्देश दिए हैं कि इस दौरान सभी सामाजिक, सांस्कृतिक, खेल, राजनीतिक, धार्मिक, शैक्षणिक, पारिवारिक और सभी प्रकार के सामूहिक समारोहों पर प्रतिबंध लगा रहेगा। राज्य सरकार के एक प्रवक्ता ने आज यहां कहा कि सभी अंतरराज्यीय और राज्य के अंदर सार्वजनिक और निजी टैक्सियों, आॅटो-रिक्शा आदि सहित अनुबंध गाड़ियों को भी प्रतिबंधित किया गया है। गाड़ियों और वाणिज्यिक विमानों की आवाजाही या ठहराव पर पूर्ण प्रतिबंध रहेगा। निजी वाहनों को केवल आवश्यक रूप से अस्पतालों का दौरा करने और आवश्यक सेवाओं के रखरखाव के लिए इस्तेमाल करने की अनुमति दी जाएगी।

हिमाचल प्रदेश सरकार के अधीन सभी कार्यालय 3 मई तक बंद रहेंगे। कर्मचारियों को निर्देशित किया गया है कि वे घर पर बने रहें और समय-समय पर निर्धारित सोशल डिस्टेंसिंग दिशा-निर्देशों का पालन करें। उनसे कहा गया है कि वे अपने संबंधित नियंत्रण अधिकारी द्वारा आवश्यकता के अनुरूप अल्प सूचना पर ड्यूटी के लिए उपलब्ध रहें। सरकारी व निजी क्षेत्र में सभी शैक्षणिक संस्थानों, स्कूलों, काॅलेजों, विश्वविद्यालयों, तकनीकी और व्यावसायिक प्रशिक्षण संस्थानों, आईटीआई, पाॅलिटेक्निक इंजीनियरिंग काॅलेजों, मेडिकल काॅलेजों, पैरामेडिकल ट्रेनिंग इंस्टीट्यूट्स, आंगनबाड़ी, क्रेच, प्री-नर्सरी स्कूल के भी बंद रहेंगे।

सभी ब्यूटी पार्लर, हेयर कटिंग सैलून, जिम, क्लब, स्विमिंग पूल, गोल्फ क्लब, स्पोर्ट्स काम्प्लेक्स आदि भी बंद रहेंगे। प्रत्येक नागरिक को परिसर से बाहर निकलते समय मास्क या घर के बने फेस कवर का उपयोग करना होगा। ये आदेश कार्यालयों, संगठनों, वाणिज्यिक प्रतिष्ठानों, कारखानों, संस्थानों, कार्यशालाओं, गोदामों, दुकानों, दुकानों, उत्पादन एवं निर्माण इकाइयों, वाहनों, अस्पतालों, पेट्रोल पंपों, तेल एजेंसियों, ई-काॅमर्स डिलीवरी इकाइयों पर लागू नहीं होंगे। केंद्र सरकार, राज्य सरकार या संबंधित जिला मजिस्ट्रेट द्वारा समय-समय पर सामान्य और संवेदनशील क्षेत्रों में आपातकालीन एवं आवश्यक परिस्थितियों में जनहित में प्रतिबंध में कुछ छूट की अनुमति दी जाएगी। राज्य सरकार के अधीन आने वाले सभी प्रशासनिक सचिव और विभागाध्यक्ष कुछ कर्मचारियों के साथ अपने कार्यालयों में मौजूद रहेंगे।

साॅलिडेरिटी रिस्पान्स फंड के लिए कर्मचारियों का एक दिन का वेतन काटा जाएगा
कोविड-19 महामारी के संक्रमण को रोकने के लिए राज्य के विभिन्न हिस्सों में लगाए गए लाॅकडाउन के कारण राज्य में स्वास्थ्य सेवाओं के बुनियादी ढांचे को मजबूत करने के उद्देश्य से राज्य सरकार ने निर्देश दिए हैं कि आहरण एवं वितरण अधिकारी प्रदेश सरकार के विभिन्न विभागों, सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रमों, स्वायत्त संस्थाओं में कार्यरत नियमित और अनुबंध अधिकारियों व कर्मचारियों का एक दिन का वेतन/परिलब्धियाँ काटेंगे। इस धनराशि को हि.प्र कोविड-19 सोलीडेरिटी रिस्पांस फंड में जमा किया जाएगा। इस राशि को भारतीय स्टेट बैंक की प्रदेश सचिवालय स्थित शिमला शाखा में खाता संख्या 39241879383 और आईएफएससी कोड 0050204 तथा एचडीएफसी बैंक, छोटा शिमला शाखा, खाता संख्या 50100340267282 और आईएफएससी कोड 004116 में जमा किया जाएगा। राज्य सरकार ने आर्थिक रूप से सम्पन्न सभी परिवारों से अपील की है कि वे अपने पड़ोस में गरीबों को भोजन और अन्य आवश्यकताएं प्रदान करने के साथ-साथ इस फंड में उदारता से योगदान दें।

मुख्यमंत्री ने डाॅ. भीम राव अम्बेडकर को श्रद्धांजलि अर्पित की
मुख्यमंत्री श्री जयराम ठाकुर जी ने आज चौड़ा मैदान स्थित अम्बेडकर चैक, शिमला पर भारतीय संविधान के निर्माता डाॅ. भीम राव अम्बेडकर को उनकी 129वीं जयंती के अवसर पर पुष्पांजलि अर्पित की। शिक्षा मंत्री सुरेश भारद्वाज, महापौर सत्या कौंडल, उप-महापौर शैलेन्द्र चैहान, मुख्यमंत्री के राजनीतिक सलाहकार त्रिलोक जम्वाल, उपायुक्त शिमला अमित कश्यप, आयुक्त पंकज राॅय ने भी डाॅ. अम्बेडकर को श्रद्धांजलि अर्पित की।

गर्भवती महिला को एयरलिफ्ट कर कमला नेहरू अस्पताल शिमला पहुंचाया गया
लाहुल स्पीति के काजा उपमंडल में एक गर्भवती महिला को मंगलावर को कमला नेहरू अस्पताल शिमला के लिए एयरलिफ्ट किया गया। 29 वर्षीय तेंजिन खचित आठ माह की गर्भवती है जो गांव पांगमो की स्थाई निवासी है। 13 अप्रैल को उनकी अचानक तबीयत खराब और परिजन तुरन्त काजा अस्पताल में ले गए। काफी देर तक तबीयत में सुधार नहीं होने पर अस्पताल प्रशासन ने उन्हें कमला नेहरू अस्पताल शिमला रेफर करने का फैसला लिया। अस्पताल प्रशासन ने अतिरिक्त दंडाधिकारी ज्ञान सागर नेगी को इसकी जानकारी दी जिन्होंने कृषि मंत्री डा. राम लाल मारकंडा से संपर्क कर हेलीकाॅप्टर सुविधा प्रदान करने की मांग की। कृषि मंत्री ने उच्च अधिकारियों से बात कर मंगलवार को गर्भवती महिला को एयरलिफ्ट का प्रबन्ध किया और उसे कमला नेहरू अस्पताल एयरलिफ्ट किया गया।

No comments:

Post a Comment